HomeUPSC G.KGeography, Agriculture, Minerals and Industries of Arunachal Pradesh in Hindi

Geography, Agriculture, Minerals and Industries of Arunachal Pradesh in Hindi

अरुणाचल प्रदेश का भूगोल, कृषि, खनिज और उद्योग

भूगोल (Geography)

अरुणाचल प्रदेश का अधिकांश भाग हिमालय से ढका हुआ है। लेकिन लोहित, चांगलॉग और तिरप पटकाई पहाड़ियों में स्थित है। गोरचिन चोटी क्षेत्र में सबसे ऊंची चोटी है। तवांग मैं स्थित बुमला दर्रा 2006 में 44 वर्षों में पहली बार व्यापार के रूप में खोला गया था।

कृषि (Agriculture)

अरुणाचल प्रदेश के नागरिकों के जीवन यापन के लिए मुख्य साधन कृषि है। यहां की अर्थव्यवस्था झूम खेती पर ही आधारित है। यहां की फसल जैसे आलू और बागवानी की फसलें जैसे सेब, संतरे, अनानास आदि। अरुणाचल प्रदेश के पहाड़ी लोगों के लिए खेती की परंपरा मुख्यतः झूम विधि पर आधारित है। इसमें मुख्य पैदावार चावल, मक्का, बाजरा, गेहूं, दलहन, गन्ना, अदरक और तिलहन है।

खनिज और उद्योग (Minerals and Industries)

राज्य की विशाल खनिज संपदा के संरक्षण के लिए 1991 में अरुणाचल प्रदेश खनिज विकास और व्यापार निगम लिमिटेड की स्थापना की गई थी।
यहां की अर्थव्यवस्था मुख्यता कृषि प्रधान है। यहां झूम खेती प्रचलित थी। यहां फसलों में चावल, मक्का, बाजरा, गेहूं, दलहन, गन्ना, अदरक मुख्य रूप से हैं। अरुणाचल फलों के उत्पादन के लिए आदर्श है। चावल की मील, हस्तशिल्प, हथकरघा आदि यहां पर उद्योग है।

Must Read

Related News

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here